• Mon. May 20th, 2024

aaaajkitaazakhabar.com

ताजगी भरी खबरें, सटीक और सबसे पहले

Devshayani Ekadashi: इस साल देवशयनी एकादशी पर तुलसी के कुछ विशेष उपाय करने से श्रीहरि की कृपा मिलेगी।

Byaaaajkitaazakhabar.com

Jun 26, 2023

Devshayani Ekadashi 2023: देवशयनी एकादशी विशेष धार्मिक महत्व रखती है. जानिए इस एकादशी पर किस तरह तुलसी को पूजा में कर सकते हैं शामिल.

2023 में देवshayani Ekadashi: साल में 24 एकादशी होती हैं, जिनमें निर्जला, जया, मोक्षदा, पापमोचनी, आमलकी, मोहिनी और अपरा एकादशी शामिल हैं। इनमें से एक देवशयनी एकादशी है। यह एकादशी है जब भगवान विष्णु शयनकक्ष में जाकर चार महीनों तक निद्रा में रहता है। इसी दिन चातुर्मास भी शुरू होता है। चातुर्मास के दिनों में कोई भी मांगलिक कार्य नहीं करना चाहिए। यह समय है जब शादी-ब्याह से बचने की सलाह दी जाती है।

कब है देवशयनी एकादशी 

पंचांग के अनुसार आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी के नाम से जाना जाता है. देवशयनी एकादशी को हरिशयनी एकादशी (Harishayani Ekadashi) भी कहते हैं. इस साल देवशयनी एकादशी 29 जून के दिन पड़ रही है. वहीं, इस साल चातुर्मास (Chaturmaas) चार के बजाय पांच महीनों के बताए जा रहे हैं. इस एकादशी का व्रत 29 जून के दिन ही रखा जाएगा.

देवशयनी एकादशी पर तुलसी उपाय करना बेहद शुभ और लाभकारी माना जाता है. तुलसी के पौधे की विशेष धार्मिक मान्यता होती है और तुलसी को तुलसी माता कहकर संबोधित किया जाता है. धार्मिक मान्यताओं के आधार पर तुलसी (Tulsi) भगवान विष्णु की प्रिय होती हैं और एकादशी पर तुलसी पूजा करने पर स्वयं भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं.

  • माना जाता है कि एकादशी की पूजा में तुलसी के समक्ष घी या दीपक जलाना शुभ होता है.
  • इस दिन 11 बार तुलसी की परिक्रमा करने पर जीवन में खुशहाली के योग बनते हैं.
  • पूजा के भोग में तुलसी का इस्तेमाल किया जा सकता है. पंजीरी में तुलसी दल तोड़कर डाले जा सकते हैं.
  • तुलसी माता (Tulsi Mata) पर लाल चुनरी डालना शुभ होता है. इससे दांपत्य जीवन बेहतर होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *