• Mon. May 20th, 2024

aaaajkitaazakhabar.com

ताजगी भरी खबरें, सटीक और सबसे पहले

Bad Sleeping Position : पेट के बल सोने के हैं इतने नुकसान, यहां जानिए आज

Acidity cause : सबके सोने की पोजीशन अलग-अलग होती है अगर आप उनमें से हैं जो पेट के बल सोते हैं, तो इसके कई नुकसान हो सकते हैं जिसके बारे में लेख में आपको बताने वाले हैं.

Bad sleeping habits : सेहतमंद रहने के लिए सिर्फ हेल्दी डाइट काफी नहीं होती है, बल्कि एक अच्छी नींद भी लेना बहुत जरूरी होता है. क्योंकि हमें स्वस्थ बनाए रखने में नींद का अहम रोल होता है इसलिए हेल्थ एक्सपर्ट 6 से 8 घंटे की सोने की बात हमेशा कहते हैं. हालांकि, आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में सुकून की नींद आना किसी चुनौती से कम नहीं है, इसलिए सोते समय ज्यादा देर तो बिस्तर पर करवटें बदलते रह जाते हैं लोग. जब तक सही पोजीशन मिल नहीं जाती नींद कहां ही आती है. सबके सोने की पोजीशन अलग-अलग होती है अगर आप उनमें से हैं जो पेट के बल सोते हैं, तो इसके कई नुकसान हो सकते हैं जिसके बारे में आर्टिकल में आपको बताने वाले हैं.

पेट के बल सोने के नुकसान

–  असल में जब हम उल्टा सोते हैं तो पेट पर दबाव पड़ता है जिसके कारण खाना अच्छे ढंग से पच नहीं पाता है, ऐसे में आपको अपच, कब्ज, पेट दर्द की शिकायत बनी रह सकती है.

– वहीं, पेट के बल सोने से रीढ़ की हड्डी (backbone) पर भी बुरा असर पड़ता है. इससे बैक बोन अपना नैचुरल शेप धीरे-धीरे खोने लगती है. जिसका परिणाम यह होता है कि आपको कमर में दर्द की शिकायत शुरू हो जाती है.

– जब आप पेट के बल सोते हैं तो शरीर में वायु का संचार नहीं हो पाता है जिसके चलते शरीर के किसी नी किसी हिस्से में दर्द बनी रहती है. कई बार तो शरीर में झनझनाहट होने लगती है.

– पेट के बल सोने से गर्दन में भी दर्द (Neck pain) की परेशानी होने लगती है. वहीं, गर्भवती महिलाओं (pregnant lady) को तो बिल्कुल ही पेट के बल नहीं सोना चाहिए. इसके अलावा अगर आपकी पेट की सर्जरी हुई है तो फिर आपको इस पोजिशन में तो बिल्कुल नहीं सोना चाहिए.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. aaaajkitaazakhabar इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *