• Mon. May 20th, 2024

aaaajkitaazakhabar.com

ताजगी भरी खबरें, सटीक और सबसे पहले

“15 रुपये लीटर मिलने लगेगा पेट्रोल…”: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया फॉर्मूला

नितिन गडकरी ने कहा कि मौजूदा समय में फ्यूल इंपोर्ट 16 लाख करोड़ रुपये का है. अगर इसे कम किया जा सकेगा, तो ये पैसा बाहर भेजने की बजाय किसानों के घर जाएगा. ऐसे में किसान अन्नदाता के साथ ही ऊर्जादाता भी बन सकते हैं

प्रतापगढ़:

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) अपने बयानों से अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. गडकरी ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर कंट्रोल करने के लिए ऐसा फॉर्मूला बताया है, जिससे एक लीटर पेट्रोल महज 15 रुपये में मिल सकता है. केंद्रीय मंत्री ने कहा, “अगर 60 फीसदी इथेनॉल और 40 फीसदी बिजली का उपयोग किया जाता है, तो पेट्रोल 15 रुपये प्रति लीटर पर उपलब्ध हो सकता है. इससे प्रदूषण का खात्मा करने में तो मदद मिलेगी ही, साथ ही फ्यूल इंपोर्ट को भी कम किया जा सकेगा.”

नितिन गडकरी ने राजस्थान के प्रतापगढ़ में 5600 करोड़ रुपये के संयुक्त मूल्य के साथ 11 नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट का उद्घाटन करने के बाद ये बयान दिया. उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में फ्यूल इंपोर्ट 16 लाख करोड़ रुपये का है. अगर इसे कम किया जा सकेगा, तो ये पैसा बाहर भेजने की बजाय किसानों के घर जाएगा. ऐसे में किसान अन्नदाता के साथ ही ऊर्जादाता भी बन सकते हैं.  बता दें कि इथेनॉल का उत्पादन गन्ने से होता है और भारत में लाखों गन्ना किसान हैं, जिनकी रोजी-रोटी का जरिया गन्ना ही है.

केंद्रीय मंत्री ने प्रतापगढ़ में 5600 करोड़ की 11 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. कुल 219 किमी लंबाई और 3775 करोड़ रुपये की लागत वाली चार राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया गया है.

इनमें अजमेर और भीलवाड़ा जिलों से कनेक्टिविटी में सुधार के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 48 पर किशनगढ़ से गुलाबपुरा तक छह लेन का सेक्शन शामिल है. राजस्थान में केंद्रीय सड़क निधि के तहत 2250 करोड़ रुपये की लागत से 74 परियोजनाओं की मंजूरी की भी घोषणा इस कार्यक्रम के दौरान की गई.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *